सम्पूर्ण सृष्टि के साथ एकता का एहसास | जानने अल्लाह

सम्पूर्ण सृष्टि के साथ एकता का एहसास

Site Team

इन्सान और सृष्टि का एक बनाने और चलाने वाला है। इस बात से इन्सान में एकत्व (Oneness) का एहसास पैदा होता है। वह सब चीज़ों को अपनी ही तरह एक मालिक की मिलकियत या एक सृष्टा की सृष्टि मानकर सबके साथ अच्छा व्यवहार करता है। एकेश्वरवाद इन्सान को व्यापक दृष्टि वाला और विशाल एवं उदार हृदय वाला बनाता है। ऐसा इन्सान अपने लिए जो पसन्द करता है, वही दूसरों के लिए भी पसन्द करता है। वह सबको बराबर समझता है। वह सभी को इज़्ज़त और मुहब्बत का हक़दार समझता है, और किसी को तुच्छ या हक़ीर नहीं समझता।

Previous article Next article

Related Articles with सम्पूर्ण सृष्टि के साथ एकता का एहसास